एक दौर में गेंद और बल्ले से क्रिकेट के मैदान में धूम मचाने वाला खिलाड़ी आज है बैसाखियों का मोहताज

बॉलीवुड और क्रिकेट की दुनिया का कनेक्शन बहुत गहरा है। जिस तरह बॉलीवुड की रंगीन दुनिया में एक स्टार सिर्फ तब तक स्टार रहता है जब तक उसके पास बड़े बैनर की फिल्में होती हैं। ठीक उसी तरह क्रिकेट की दुनिया में क्रिकेटर सिर्फ तब तक पहचाना जाता है, जब तक वो टीम में शामिल है और खेल रहा होता है। जिस दिन वो क्रिकेट से रिटायरमेंट लेता है, वो दिन एक सेलिब्रिटी की तरह उसका आखिरी दिन हो जाता है।

वो कहावत तो आपने सुनी ही होगी कि “उगते सूरज को सब सलामी देते हैं। जबकि डूबते सूरज की ओर कोई देखता भी नहीं।” आज ऐसा ही कुछ एक बेहतरीन क्रिकेटर के साथ हुआ है।

जी हाँ! कभी अपनी बल्लेबाजी से गेंदबाजों के अंदर खौफ भर देने वाले और अपनी गेंदबाजी से बड़े-बड़े बल्लेबाजों को चौंकाने वाले ऑलराउंडर खिलाड़ी सनथ जयसूर्या कुछ ऐसी ही स्थिति में हैं। आखिर कैसे हुई उनकी यह हालत, यह जानने के लिए आपको पढ़ना होगी यह स्टोरी।

श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के धाकड़ बल्लेबाज रहे सनथ जयसूर्या इन दिनों अपने पैरों पर चल भी नहीं पा रहे. कभी गेंदबाज़ों के छक्के छुड़ाने वाले जयसूर्या घुटनों की समस्या से पीड़ित हैं और उन्हें चार कदम चलने के लिए भी बैसाखियों का सहारा लेना पड़ा रहा है.

श्रीलंकाई अखबार ‘सीलोन टुडे’ की खबर के मुताबिक, जयसूर्या के घुटनों का मेलबर्न में ऑपरेशन होना है. इसके लिए जनवरी के शुरुआती हफ्ते में ऑस्ट्रेलिया के लिए रवाना हो सकते हैं. अखबार के मुताबिक, जयसूर्या को ऑपरेशन के बाद पूरी तरह ठीक होने में करीब एक महीने का वक्त लग सकता है और इसके बाद ही पता चल पाएगा कि वह अपने पैरों पर चल सकते हैं या नहीं.


सनथ जयसूर्या, श्रीलंका के एक बेहतरीन क्रिकेटर रहे हैं। एक समय में उन्होंने अपने दमदार प्रदर्शन से कई टीमों के दांत खट्टे किए हैं।

श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के मजबूत स्तंभ रहे 48 साल के जयसूर्या की एक वक्त विश्व क्रिकेट में तूती बोलती थी. अपने क्रिकेटिंग करियर में उन्होंने 110 टेस्ट मैचों में 40 की औसत से 6973 रन बनाए. जयसूर्या ने 433 वनडे क्रिकेट मैचों में 13000 हजार रन जड़े. जयसूर्या बल्लेबाजी के अलावा अपनी फिरकी गेंदबाजी से भी विपक्षी टीम के लिए मुसीबत खड़ी करते रहे हैं. उन्होंने टेस्ट मैचों में 98 विकेट, जबकि वनडे में 323 विकेट चटकाए.

हालांकि बढ़ती उम्र के कारण जयसूर्या का प्रदर्शन दिन ब दिन ढलता रहा और आखिरकार 2011 में उन्होंने संन्यास ले लिया. इसके बाद वह क्रिकेट बोर्ड से जुड़ गए और दो बार श्रीलंका क्रिकेट की चयन समिति के चेयरमैन रह चुके हैं.


अपने करियर के शुरुआती दिनों में सनथ जयसूर्या बतौर गेंदबाज टीम का हिस्सा थे। बाद में उन्होंने बल्लेबाजी में भी खुद को आजमाया।


जयसूर्या एक अच्छे गेंदबाज तो थे ही। लेकिन बाद में उन्होंने एक बल्लेबाज के रूप में भी खुद को स्थापित किया। पॉवर प्ले के बेहतरीन बल्लेबाजों में उनका नाम शुमार था।


पहचाना? जी हाँ! ये वही सनथ जयसूर्या हैं, जो किसी समय श्रीलंकाई क्रिकेट के सबसे दमदार खिलाड़ी हुआ करते थे। आज उनकी हालत ऐसी हो गई है कि वो अपने पैरों पर खड़े भी नहीं हो सकते।


कभी विस्फोटक बल्लेबाजी करने वाला यह बाएं हाथ का बल्लेबाज आज घुटनों की बीमारी से लड़ रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उनके घुटनों का ऑपरेशन जल्द ही होगा।


कहा जा रहा है कि उनके घुटनों का ऑपरेशन मेलबर्न में होगा। फिलहाल वे बैसाखी के सहारे चल रहे हैं। बिना बैसाखी के वे एक कदम भी नहीं चल पाते हैं।


जयसूर्या को ऑपरेशन के बाद ठीक होने में करीब एक महीने का वक़्त लगेगा। उसके बाद ही ये पता लगेगा कि वो अपने दम पर चल पाएंगे या नहीं?


2011 में संन्यास लेने के बाद जयसूर्या श्रीलंकन क्रिकेट समिति के चेयरमैन रहे। हालांकि उनका कार्यकाल विवादों से भरा रहा। आखिरकार उन्होंने चेयरमैन पद से भी इस्तीफा दे दिया।


अगर जयसूर्या के क्रिकेट करियर की बात की जाए तो उन्होंने 110 टेस्ट मैचों में 40 की औसत से 6,973 रन बनाए जबकि 433 क्रिकेट मैचों में 13,000 रन बनाए थे।


जयसूर्या को इस हालत में देखना किसी भी क्रिकेट प्रेमी के लिए बहुत बुरा अनुभव होगा। हम आशा करते हैं कि जयसूर्या ऑपरेशन के बाद जल्द ही अपने पैरों पर खड़े हो जाएंगे।
Source

Post Author: Ankit khandelwal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.